दो दशक से राजनैतिक, आर्थिक एवं सामाजिक क्षेत्रों के विभिन्न विषयों पर सर्वे करने वाली ऐजेन्सी यूरिड सर्वे एंड कन्सल्टेंसी प्रा. लिमिटेड से ब्लाक-तहसील-कस्बो एवं विधानसभा क्षेत्रों तक फैले प्रदेश के सबसे बड़े नेटवर्क से किसी भी विषय शहरी, ग्रामीण वा सरकारी योजनाओ एवम निजी व्यवसाय और चुनाव के सर्वे हेतु सम्पर्क करे. 9415020028 uridmedia24@gmail.com , rdsime@gmail.com. देखिए- विधानसभा 2017 के चुनाव में विभिन्न राजनैतिक दल सपा, बसपा , भाजपा एवं कांग्रेस को मिली सीटो एवम मत प्रतिशत का विश्लेषण |
ब्रेकिंग न्यूज़

यूरिड सर्वे रिपोर्ट: विधायको के बारे में मतदाताओं की राय, अन्दर देखे पोल

1 of 5
यूरिड सर्वे रिपोर्ट: विधायको के बारे में मतदाताओं की राय, अन्दर देखे पोल

आपका स्लाइडशो खत्म हो गया है

स्लाइडशो दोबारा देखें

यूरिड सर्वे:- जीत के बाद नेता फक्र से कहते है कि हमारे चुनाव में 10,15 आैर 20 करोड़ रूपये खर्च हुए। जरा सोचिए 5 वर्ष विधान सभा चली तो एक लाख के आैसत से अधिकतम 60 लाख तनख्वाह ही मिलेगी। अब थोड़ा बढ़ रहा है, पहले आैर भी कम था। अब ऐसे में 5 वर्ष की 60 लाख की तनख्वाह के लिए 10 से 20 करोड़ खर्च करने वाले क्या व्यवसाय करते है जो दूसरी बार उससे भी ज्यादा खर्च करने का मद्दा रखते है। 

यही वजह है कि समय के साथ विधायकों के प्रति जनता की रूझान आैर नजरिये में भी अन्तर आया है। इस संदर्भ में यूरिड मीडिया ग्रुप ने पिछले दिनों विधायकों के बारे में जनता की राय जानने की कोशिश की। इसके लिए हर विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न जातियों, समुदाय, धर्म, आयु वर्ग के 500 लोगों की राय ली गयी। इसके नजीते अत्यन्त ही चौकाने वाले आये। विश्वास करे, विभिन्न क्षेत्रों के 49 प्रतिशत लोगों ने विधायक के बारे में किसी भी तरह की जानकारी से ही अनभिज्ञता जाहिर की जबकि 43 प्रतिशत विधायक का नाम भी नही बता पाये। क्षेत्र के 47 प्रतिशत लोग विधायक के व्यवहार से दुखी है तो 63 प्रतिशत लोग वर्तमान विधायक को दोबारा चुनाव जीताने के पक्ष में नही है। विधायकों की आर्थिक स्थिति के बारे में 71 प्रतिशत लोगों का कहना है कि पांच वर्ष में विधायक ने अकूत संपत्ति बनायी है।

आगे देखे सवाल व पोल--